12.1 C
New York
Saturday, Apr 1, 2023
DesRag
राज्य

चंबल में डूबे श्रद्धालु, अफसर पहुंचे ना मंत्रीः डॉ. सिंह

भोपाल(देसराग)। मध्य प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष डॉक्टर गोविंद सिंह ने चंबल नदी के रोधई घाट पर श्रद्धालुओं की डूबने से हुई मौत पर दुख व्यक्त किया है। इसके साथ ही रेस्क्यू ऑपरेशन पर भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री इस मामले में झूठ बोल रहे हैं।

दरअसल, मुरैना जिले के टेंटरा थाना अंतर्गत रोधई घाट पर शिवपुरी जिले के लगभग 17 श्रद्धालु कम पानी में चंबल नदी को पार कर कैला देवी के दर्शन के लिए जा रहे थे। अचानक मगरमच्छ ने हमला कर दिया और जान बचाने के लिए यह सभी गहरे पानी में चले गए। इनमें से स्थानीय लोगों द्वारा कुछ शवों को निकाल लिया गया, शेष का अब तक पता नहीं चल सका है। नेता प्रतिपक्ष डॉक्टर गोविंद सिंह ने कहा कि यह घटना शनिवार को सुबह 7:00 बजे की है लेकिन दोपहर 3:00 बजे तक वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर नहीं पहुंचे थे और ना ही रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंची। जबकि राजस्थान के कलेक्टर और एसपी सुबह से ही घटनास्थल पर रेस्क्यू ऑपरेशन चला रहे थे। उन्होंने इस मामले में मुख्यमंत्री द्वारा रेस्क्यू टीम भेजने और तेजी से कार्रवाई करने की बात को महा झूठ करार दिया। नेता प्रतिपक्ष ने इस मामले में एक वीडियो भी जारी किया जिसमें उन्होंने अपनी बात कही।

डॉक्टर गोविंद सिंह ने कहा कि घटनास्थल पर कांग्रेस के पूर्व विधायक और मंत्री रामनिवास रावत सुबह से मौजूद रहे और उन्होंने पल-पल की जानकारी से मुझे अवगत कराया। जबकि मुख्यमंत्री भोपाल के जंबूरी मैदान में पाखंड में व्यस्त थे। इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी सरकार का कोई मंत्री घटनास्थल पर नहीं पहुंचा। इससे सरकार की संवेदनहीनता का पता चलता है। नेता प्रतिपक्ष डॉक्टर गोविंद सिंह ने मृतकों के निकटतम परिजनों को 10-10 की आर्थिक सहायता दिए जाने, इस घाट पर पुल बनाए जाने और घटना की जांच करा कर मुरैना कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक को तत्काल निलंबित किए जाने की मांग की है।

Related posts

कांग्रेस ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की चीन से नजदीकियों पर उठाए सवाल

desrag

महापौर पद के लिए भाजपा और कांग्रेस में चरम पर सियासी घमासान!

desrag

सिंधिया का महल घूमने आई महिला का हंगामा, खुद को बताया महारानी, सुरक्षाकर्मियों को पीटा

desrag

Leave a Comment